Tuesday, 8 September 2020

रिया गिरफ्तार ,अब नशे का तंत्र का राज अब पकड़ेगा रफ़्तार .., अब तो इस गोरखधंदे में सिर्फ अंडें मिले हैं, अब मम्मी पापा वाली बड़ी मछलियों की तलाश में बॉलीवुड के समुन्दर के अन्दर गहराई में गहन तलाशी का आगे का मंजर है.., क्योकि हर ड्रग माफियाओं के पास ड्रग का खंजर है =============== सुशांत.., एक निष्णात.., बुलंदी में पहुँचने पर भी शांत. कोई नहीं अभिमान, यही थी सुशांत की शान फिल्म इंडस्ट्रीज का सितारा जिसके खून में विज्ञान से अभिज्ञान की जिज्ञासा.., सूर्य की किरण से हर दिन जीवन में नई उमंग से विहंग, अध्यापन से हर क्षेत्र में अपना सिक्का जमाने के बावजूद वे कभी धन के लोभ से नहीं रहे मोहताज .., सितारों की दुनिया से बॉलीवुड में धमाकेदार एंट्री से वंशवाद व भाई भतिजावाद के टुकड़ों से पलने वालों में तहलका मच गया.

 


रिया गिरफ्तार ,अब नशे का तंत्र का राज अब पकड़ेगा रफ़्तार .., अब तो इस गोरखधंदे में सिर्फ अंडें मिले हैं, अब मम्मी पापा वाली बड़ी मछलियों की तलाश में बॉलीवुड के समुन्दर के अन्दर गहराई में गहन तलाशी का आगे का मंजर है.., क्योकि हर ड्रग माफियाओं के पास ड्रग का खंजर है.




===============

सुशांत.., एक निष्णात.., बुलंदी में पहुँचने पर भी शांत. कोई  नहीं अभिमान, यही थी सुशांत की शान


फिल्म इंडस्ट्रीज का सितारा जिसके खून में विज्ञान से अभिज्ञान की जिज्ञासा.., सूर्य की किरण से हर दिन जीवन में नई उमंग से विहंग,  


अध्यापन से हर क्षेत्र में अपना सिक्का जमाने के बावजूद वे कभी धन के लोभ से नहीं रहे मोहताज .., 

 

सितारों की दुनिया से बॉलीवुड में धमाकेदार एंट्री से  वंशवाद  व भाई भतिजावाद के टुकड़ों से पलने वालों में तहलका मच गया.


हर क्षेत्र  में महारत होने के बावजूद सुशांत ने कभी पुरूस्कार का मोह न करते हुए अपनी सफलताओं की सीढ़ी  चढ़ते हुए  नयी पीढी को प्रेरणा दी  की अपनी  क्षमता  के बल से बुलंदी छूई जा सकती है और M S DHONI फिल्म देखकर , धोनी भी कायल होकर कहने लगे , सुशांत आपकी बल्लेबाजी व विकेटकीपिंग तो मेरे से भी बढ़िया है तूने  तो चंद  दिनों के अभ्यास से महारथ हासिल कर ली है

 

अब तो,सितारों की दुनिया से बॉलीवुड में धमाकेदार एंट्री से  वंशवाद  व भाई भतिजावाद के टुकड़ों से पलने वालों में तहलका मच गया. और इनकी दूकान बंद होने की  मुहर लगनी पक्की हो गई थी ..,


अब यह सुशांत ,  भाई-भतीजावाद + नशे व अवैध व्यापार / घोटाला अर्थात देश को बेच डाला  + राजनैतिक ढाल  के सुनियोजित संगठन की गले की हड्डी बन गयी और सुशांत जो “छिछोरा” फिल्म फेयर अवार्ड में इस फिल्म  का कोई Affair न दिखाकर इसे नामांकित भी नहीं किया.., इसके बावजूद सुशांत को अपनी कला पर विश्वास था व हौसले बुलंद थे


असली खेल शुरू हवा जब मौत का खेल “दिशा सालियांन” जो सुशांत की पूर्व सेक्रेटरी  की ह्त्या से, ४थे मंजिल से नग्न अवस्था से फेकने के बावजूद मुंबई पुलिस ने इसे  आत्मह्त्या का मामला कर रफा दफा कर दिया


इसकी भनक लगते ही व इसके पीछे के राज का पर्दाफाश करने के लिए सुशांत द्वारा प्रेस कांफ्रेंस की घोषणा करने पर सुशांत को हमेशा के लिए शांत करने के खेल में ह्त्या कर, पुलिस ने  दिशा सालियांन की तरह आत्महत्या घोषित कर दिया


इसके बाद दिशा सालियांन की ह्त्या के सबूत / पत्र जो  कंप्यूटर में थे , मुंबई पुलिस ने आनन् फानन में , इस फाइल को कंप्यूटर से उड़ा (Delete)  दिया .


अब इस पूरे मामले में दिशा सालियांन की ह्त्या का राज खुलने पर बड़ी मछलियों के बाप से दादा व परदादा तक पकडे जायेंगें.


जब तक इस तरह के रैकेट /नेक्सस का पूरे देश से खात्मा नहीं होता , तब तक देश में उड़ता..., पंजाब , गोवा ,महाराष्ट्र से अन्य राज्य  का युवा इसकी चपेट से लपेटा रहेगा .


जब तक देश में नशे के भेष का नकाब नहीं खुलेगा तो देश का युवा इस से ग्रसित होकर देश डूबते रहेगा


देश का खुफिया तंत्र यदि इस नशे को  देश के युवा को मारने का छुपा  हथियार नहीं समझेगा तब तक यह एक खाना पूर्ती की  कार्यवाही  मानकर कानून की किताब से एक ख़िताब बनाकर रखा जायेगा.

दोस्तों.., यह देश की छद्म आजादी के ७३ सालों का खेल है.. सच में इस वेबस्थल का स्लोगन है

“मेंरा संविधान महान , यंहा हर माफिया पहलवान “



No comments:

Post a comment