Videos

Loading...

Sunday, 7 September 2014



 क्या अब ओवैसी.., देश के लिए 100 करोड़ हिन्दुओ को खत्म करने के लिए 15 मिनट चाहिए, तो मुंबई के 1 करोड़ हिन्दुओ को खत्म करने के लिए कितने सेकेंड लेने के समय का बयान देगा…..????, मेरे मुंबई आया, असदुद्दीन ओवैसी, हे रामजी .... क्या अब वह, यह बयान देगा ...?? 
अब, रमजान (RAMJAN= RAM +JAN, = राम के जान वाले ) और दिवाली ( DIWALI= DIWAYA + ALI, = अली के दिलवाले) के लड़ाई से देश की बरबादी का खेल शुरू करने की कोशिश की आड़ मे वोट बैंक के कशिश (खिंचाव / आकर्षण शक्ति) की कहानी आगे भयंकर रूप से बढ़ने वाली है...
जागो देशवासियों...तुम तो धर्म के खेल के तो... सिर्फ मोहरे हो...इनके लिए, तुम तो पाँच साल के लिए... रोते हुये चेहरे हो ...???? इसलिय राममनोहर लोहिया की वाणी आज भी सार्थक है , कि, जिंदा कौमे पाँच साल का इंतजार नही करती है....??? इससे मुक्ति चाहिए तो....????, चलो राष्ट्रवाद की ओर ....

धर्म, जातिवाद , अलगाववाद, घुसपैठ इन सत्ता धारियों के लिए तो एक शराब है...? और देश लूटने का ख्वाब है…??? संसद के पिछले कार्यकाल में..., दिन मे संसद की कारवाई हुडदंग से स्थगित करा..., देश को बेबस बनाओ ....दिन मे लूट और रात मे, घुसपैठेयों के लिए सीमाए खोलकर , वोट बैक का जश्न मनाओ का खेल है की रणनीती अपनाई ...????

याद रहे जब असदुद्दीन ओवैसी को जेल की हवा खानी पड़ी , तो कोर्ट ने भी उन्हे जमानत देते समय कहा था कि... राम का विरोध करते हो...., परंतु, देखो तुम्हें जमानत दिलवा कर जेल से बाहर निकालने के लिए भी एडवोकेट राम आये है... बड़े दुख के साथ लिखना पड़ रहा है, इसी ताजा घटना के समय, संसद को हंगामाबाजी से स्थगित करने के लिए, संसद मे, असदुद्दीन ओवैसी के बड़े भाई अकबरुद्दीन जो सांसद थे , उन्हे, सोनिया गांधी ने इशारा कर, उकसाने का प्रयत्न किया..कि हुडदंग से संसद की कार्यवाही स्थगित करा दो .??? संसद के समय की बरबादी से ...देश की बरबादी का खेल बदस्तूर जारी था ...।
अब तो असदुद्दीन ओवैसी, खुले आम,अपने को इस्लाम का स्वंभू मसीहा मानकर, फरमान सुना दिया है..कि यदि हिन्दुस्तान , पाकिस्तान का युध्ह होता है तो देश के मुसलबान, पाकिस्तान के तरफ से बाण चलाएंगे , बड़े दुःख के साथ लिखना पड़ रह़ा है कि, हमारा संविधान भी अकबरुद्दीन ओवैसीको “देशप्रेमी” मानकर अब भी चुप है..., मीडिया ने भी इस बयान से पल्ला झाड़कर एक छोटी खबर कहा है.........
पिछली सरकार तो, ऐसी ख़बरों के सम्मान से सत्ता का अभिमान की से माल-माल होकर, खुले आम संविधान को चुनौती देकर लताड़ लगा रहें थी , हम संविधान के ५ साल के रक्षक है..., जनता ने हमें चुना है.., ऐसा कहकर देश को चुना लगा रहें थे.., अब यह रणनीती हमें ले डूबेगी..,
महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री व शरद पवार के भतीजे ने एक लाख करोड़ का सिचाई घोटाला कर..., ताल ठोककर, महाराष्ट्र की जनता का उपहास कर कहा.., इस सूखे छेत्र में मेरे पेशाब करने से यदि बाढ़ आती है, तो..., मैं पेशाब करता हूँ .., खाद्यान घोटाले से १० लाख से अधिक से किसान आत्महत्या व इस योजना से धन डकारने की योजना को मीडिया से शरद पवार भी एक सामान्य घटना मान रही है...
पिछले महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में , राज ठाकरे के भाषावाद के युध्ह में मराठी माणूस (आदमी) अपनी ही कुलहाड़ी से अपाहिज हो गया है, इस भाषावाद के जहर से.., कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी केसत्ता पर काब्ज होने के बाद..., सुपर पावर के शरद पवार के नेतृत्व में महाराष्ट्र से देश तक में घोटाले की बौछार हो गयी.., मोहल्ले के नेता तो इस फव्वारे के पानी पीने से मला-माल हो गए.
बाल ठाकरे भी बार-बार पुकार कर रहें थे बेटा आ अब लौट आओ , मेरी बोतल में शराब डालकर, सत्ता का नशा मत करों, नशा उतरने के बाद तुमको अपनी अवकाद मालूम पड़ेगी.., क्योंकि ४० साल पहले मैंने भी यह शराब पी थी, और ३० साल तक मेरी अवकाद नगरपालिका चुनाव जीतने तक ही थी ..., और भतीजे के इस रवैये से मरते समय तक उनकी आत्मा तड़फती रही .., और लोकसभा चुनाव मेंराज ठाकरे को जनता ने इतने जोर से पटका कि अब आनेवाले विधानसभा चुनाव से हाय-तौबा कर ली है...
हे, हुडदंग., हुडदंग.., हुडदंग..., से धर्मवाद के जंग से वोट बैंक के सौदागर दंग और हडकंप , पिछले चुनाव में भाषावाद के जंग से सत्ता का रंग..,
महाराष्ट्र में मोदी के विरोधी नेताओं को, लोकसभा चुनाव में, मोदी के चोट से जो घाव हो गए है..., अब इस घाव में जरूर पढ़े, क्या अब ओवैसी.., देश के लिए 100 करोड़ हिन्दुओ को खत्म करने के लिए 15 मिनट चाहिए, तो मुंबई के 1 करोड़ हिन्दुओ को खत्म करने के लिए कितने सेकेंड लेने के समय का बयान देगा…..????, मेरे मुंबई आया, असदुद्दीन ओवैसी, हे रामजी .... क्या अब वह, यह बयान देगा ...??
अब, रमजान (RAMJAN= RAM +JAN, = राम के जान वाले ) और दिवाली ( DIWALI= DIWAYA + ALI, = अली के दिलवाले) के लड़ाई से देश की बरबादी का खेल शुरू करने की कोशिश की आड़ मे वोट बैंक के कशिश (खिंचाव / आकर्षण शक्ति) की कहानी आगे भयंकर रूप से बढ़ने वाली है...
जागो देशवासियों...तुम तो धर्म के, खेल के ... सिर्फ मोहरे हो...इनके लिए, तुम तो पाँच साल के लिए... रोते हुये चेहरे हो ...???? इसलिय राममनोहर लोहिया की वाणी आज भी सार्थक है , कि, जिंदा कौमे पाँच साल का इंतजार नही करती है....??? इससे मुक्ति चाहिए तो....????, चलो राष्ट्रवाद की ओर ....

धर्म, जातिवाद , अलगाववाद, घुसपैठ इन सत्ता धारियों के लिए तो एक शराब है...? और देश लूटने का ख्वाब है…??? संसद के पिछले कार्यकाल में..., दिन मे संसद की कारवाई हुडदंग से स्थगित करा..., देश को बेबस बनाओ ....दिन मे लूट और रात मे, घुसपैठेयों के लिए सीमाए खोलकर , वोट बैक का जश्न मनाओ का खेल है की रणनीती अपनाई ...????

याद रहे जब असदुद्दीन ओवैसी को जेल की हवा खानी पड़ी , तो कोर्ट ने भी उन्हे जमानत देते समय कहा था कि... राम का विरोध करते हो...., परंतु, देखो तुम्हें जमानत दिलवा कर जेल से बाहर निकालने के लिए भी एडवोकेट राम आये है... बड़े दुख के साथ लिखना पड़ रहा है, इसी ताजा घटना के समय, संसद को हंगामाबाजी से स्थगित करने के लिए, संसद मे, असदुद्दीन ओवैसी के बड़े भाई अकबरुद्दीन जो सांसद थे , उन्हे, सोनिया गांधी ने इशारा कर, उकसाने का प्रयत्न किया..कि हुडदंग से संसद की कार्यवाही स्थगित करा दो .??? संसद के समय की बरबादी से ...देश की बरबादी का खेल बदस्तूर जारी था ...।
अब तो असदुद्दीन ओवैसी, खुले आम,अपने को इस्लाम का स्वंभू मसीहा मानकर, फरमान सुना दिया है..कि यदि हिन्दुस्तान , पाकिस्तान का युध्ह होता है तो देश के मुसलबान, पाकिस्तान के तरफ से बाण चलाएंगे , बड़े दुःख के साथ लिखना पड़ रह़ा है कि, हमारा संविधान भी अकबरुद्दीन ओवैसीको “देशप्रेमी” मानकर अब भी चुप है..., मीडिया ने भी इस बयान से पल्ला झाड़कर एक छोटी खबर कहा है.........
पिछली सरकार तो, ऐसी ख़बरों के सम्मान से सत्ता का अभिमान की से माल-माल होकर, खुले आम संविधान को चुनौती देकर लताड़ लगा रहें थी , हम संविधान के ५ साल के रक्षक है..., जनता ने हमें चुना है.., ऐसा कहकर देश को चुना लगा रहें थे.., अब यह रणनीती हमें ले डूबेगी..,
महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री व शरद पवार के भतीजे ने एक लाख करोड़ का सिचाई घोटाला कर..., ताल ठोककर, महाराष्ट्र की जनता का उपहास कर कहा.., इस सूखे छेत्र में मेरे पेशाब करने से यदि बाढ़ आती है, तो..., मैं पेशाब करता हूँ .., खाद्यान घोटाले से १० लाख से अधिक से किसान आत्महत्या व इस योजना से धन डकारने की योजना को मीडिया से शरद पवार भी एक सामान्य घटना मान रही है...
पिछले महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में , राज ठाकरे के भाषावाद के युध्ह में मराठी माणूस (आदमी) अपनी ही कुलहाड़ी से अपाहिज हो गया है, इस भाषावाद के जहर से.., कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी केसत्ता पर काब्ज होने के बाद..., सुपर पावर के शरद पवार के नेतृत्व में महाराष्ट्र से देश तक में घोटाले की बौछार हो गयी.., मोहल्ले के नेता तो इस फव्वारे के पानी पीने से मला-माल हो गए.
बाल ठाकरे भी बार-बार पुकार कर रहें थे बेटा आ अब लौट आओ , मेरी बोतल में शराब डालकर, सत्ता का नशा मत करों, नशा उतरने के बाद तुमको अपनी अवकाद मालूम पड़ेगी.., क्योंकि ४० साल पहले मैंने भी यह शराब पी थी, और ३० साल तक मेरी अवकाद नगरपालिका चुनाव जीतने तक ही थी ..., और भतीजे के इस रवैये से मरते समय तक उनकी आत्मा तड़फती रही .., और लोकसभा चुनाव मेंराज ठाकरे को जनता ने इतने जोर से पटका कि अब आनेवाले विधानसभा चुनाव से हाय-तौबा कर ली है...
हे, हुडदंग., हुडदंग.., हुडदंग..., से धर्मवाद के जंग से वोट बैंक के सौदागर दंग और हडकंप , पिछले चुनाव में भाषावाद के जंग से सत्ता का रंग..,
महाराष्ट्र में मोदी के विरोधी नेताओं को, लोकसभा चुनाव में, मोदी के चोट से जो घाव हो गए है..., अब इस घाव में असदुद्दीन ओवैसी की हरी मिर्च लगने के हडकंप से सतारूढ़ पार्टी को रोड में आने का खौफ सता रहा है