Sunday, 29 September 2013


IAS ऑफिसर, शशी... बनी भ्रष्टाचार की शीशी... , भ्रष्टाचार के कमाल से, “आम आदमी के हाथके खून को चूसकर.... बनाया, अपने हाथ को पंजा , कोर्ट ने अब कसा शिकंजा ......... क्या मजाक है, इन देश के जौकोंके लिए .... ३४ करोड़ के घोटाले में... ५० लाख की वसूली का..जवाब दो जजशाही..?? क्या... यह, बच्चों के चोर - पुलिस का खेल है ...या देश के साथ खिलवाड़ है
इस देश की अमीर इंडिया…? और गरीब हिन्दुस्तान के हालात की मार्मिक तस्वीर यह है.,

गये साल अखबार मे समाचार था, मध्य प्रदेश के टीनू जोशी दपति (I.A.S.- आफिसर) के घर 500 करोड की काली सम्पति…? बरामद हुई है, अभी और लाँकर खुलने बाकी है, उसी के बगल के समाचार कालम मे सटकर यह खबर भी थी, मध्य प्रदेश मे एक परिवार के 4 सदस्यो ने गरीबी से आत्महत्या की ?. हाँ, एक घर मे ..काले धन वाला चमकदार इंडियन रहता है, और दुसरे झोपडें मे बिना बिजली के मेहनत और ईमानदारी से रोजी रोटे कमाने वाला हिन्दुस्थानी, जो सिर्फ और सिर्फ विकास के नाम पर, वोट बैक के शोषण का मोहरा है. आज गरीबों का वोट बैक, सत्ताधारियों का इनते नाम पर योजनाये निकालकर धन बैंक के लूट का चेहरा है.

दोस्तों.... आम जनता के लिए गंभीर कानून , सत्ताखोरों के लिये, जजशाही भी कान में, ऊन डालकर नौकरशाहों को गदादेदार उन के गलीचे बिछाकर, स्वागत कर.... उनकी राह आसान करत्ती है, यदि कोई ... आम, देशवासी आयकर व चुंगी इत्यादी मामलों में पकड़ा जाता है, तो... उससे १५ गुना रकम वसूल करते है,

पिछले २० सालों में विदेशी बैकों में जमा धन का, हम लोग, जो, आँकलन कर रहे हैं , उससे कहीं ज्यादा घोटाले देश के भीतर हुए है.. , आज तक १% से भी, कम की, रकम वसूली गई है .... काँमन वेल्थके लोगो की कमाई को हाई वेल्थवाले अय्याशी से उड़ा रहे है... हर मुहल्ले, शहर से देश में “A राजासे “Z++ राजातक, घात लगाकर बैठें है..???, दोस्तों, यही डूबते देश की बर्बादी की कहानी है... जागो देशवासियों अब भी देर नहीं हुई है...????