Friday, 23 March 2018

पंगा लेने की पुरानी आदतों से कचरावाल अपंग बनकर, अब विरोधियों पर अपमान से “थूक –कर” अब चाटकर कह रहा है , यह मेरे जीवन की सबसे बड़ी “चूक “ ., मेरे कार्यकता इस करतूत से गये मेरे से “छूट”..



अन्ना आन्दोलन (२०११) की पैदाइश.., केजरीवाल अपने को ही कह रहा है.., अन्ना का बाप.., अब २०१८ के २३मार्च से आ-मरण अनशन में लोकपाल बिल पर नयी घोषणा अब इस आन्दोलन में केजरीवाल जैसे कचरावाल की पैदाइश  नहीं होगी.., न ही केजरीवाल जैसे कचरावाल को इस आन्दोलन में भाग लेने की अनुमति नहीं होगी.

अन्ना की इस लोकपाल की मांग व किसानों की डिमांड के सिले-सिले में कचारावाल द्वारा लोकपाल के नाम से फाडे  कपड़ों ..... , को सिलने, अब आमरण  की हुंकार के नाम पर रामलीला मैदान में २०११ की लाखों  की भीड़ की तुलना में अबकी बार सिर्फ ५ हजार की मुट्ठी भर भीड़..

अब  तक, अन्ना का  प्रधानमंत्री को २२ पत्र..., प्रधानमंत्री के २३  वें पत्र में लोकपाल बिल पर विपक्ष को चर्चा पर बुलाने से सभी दल हक्का बक्का..,  

अन्ना का गन्ना चूसकर अब बिल्ली वाल .., गिरगिट वाल को भी मात देकर कह रहा है..., अपने को दिल्ली का बाप
अब इस गन्ने के रस की ऊर्जा मात्र ३३  महीने में गिरगिटी वाल की भूमिका से प्रधानमंत्री पद की आकांक्षा से गंवा दी है.., अब जनता में अपनी प्रतिभा संतरी की भी नहीं रह गई ..,
पंगा लेने की पुरानी आदतों से  कचरावाल अपंग बनकर, अब विरोधियों पर अपमान से “थूक –कर”  अब चाटकर कह रहा है , यह मेरे  जीवन की सबसे बड़ी  “चूक “ .,  मेरे कार्यकता इस करतूत से  गये  मेरे  से “छूट”..

योगेन्द्र यादव, शशी भूषण से पार्टी संयोजकों को सत्ता के दूध से मक्खी की तरह से निकालने का दंभ का दम निकल गया है
सेना के SURGICAL STRIKE के संशय से प्रमाण मांगने वाले अब सरजी के सर पर राजौरी गर्दन गार्डन से MCD चुनाव से ऐसा STRIKE हुआ है कि अब अक्कल ठिकाने आकर अपनी अवकाद दिखा दिला दी है .., क्या अब भी अपना बडबड़ीवाल से, जनता के थपेड़े से.., अब अपने लाल गाल सहलाते रहेंगें ...!!

२७ महीने में फर्जी कानूनी डिग्री वाले मंत्री .., खटिया में महिलाओं का कामासन से राशन कार्ड का काम करवा कर, पार्टी का नाम रोशन .., महिला मार्शल से CCTV की सौगात दिलवाने के झांसे की पोल खुल गई है..., दिल्ली से लूट की तसल्ली अब भी पूरी नहीं हुई है.

राजोरी – “राज जारीगार्डन के सीना जोरी से, भ्रष्टाचार के खाद से दिल्ली की सत्ता से केजरीवाल के गर्दन से गार्डन के फूल पहिले ही सूख गए थे ...,

अब केजरीवाल के साथी सही पकड़े हैंसे MCD- Maha Corruption Development के अपने महा करप्शन डेवलपमेंट से. MCD चुनाव ने उनको अपनी अवकाद दिखा दी है.., शिंगलू कमिटी के खुलासे के बावजूद जली रस्सी का दम दिखाकर अब EVM मशीन को धोखेबाज कहकर, प्रधानमंत्री को दुर्योधन व चुनाव आयोग को धृतराष्ट कहकर.., अब गिरगिटवाल ने इस चुनावी मोर्चे के परिणाम के बाद अपने आँखों के साथ मुंह पर भी पट्टी गिरगिटवाल बाँध ली है...

चुनाव परिणाम के बाद अन्ना के लताड़ से गिरगिटवाल ने तो अपने कानों को भी पट्टी से बंद कर दिया है

अब अपने ६६ सीटों की गरिमा को लुटाकर ..,आप , बाप , खाप पार्टी से भ्रष्टाचार को पचाकर MCD चुनाव जीतने में का सपना चकानाचूर हो गया है ..., क्या वे अब भी शर्म हया त्याग कर सत्ता के मोती चूर के लड्डू खाते रहेंगें.., 
अन्ना के आँखों में दर्द के आंसू .., फिर भी कचरा वाल अपने को कह रहें हैं धांसू ..,

कुमार विश्वास की हुंकार अब आप , बाप , खाप पार्टी से जनता में अविश्वास की लहर.., अब और मत करों, जनता की गाढ़ी कमाई को डकार ..., अब झूठे फ़साने की खांसी से फंसी है पार्टी मझधार, MCD चुनाव से अब हो गया पार्टी का बंटाधार.


विधान सभा के ६६  सीटों की जीत से, इंद्र-सभा का सिर्फ मेरा योग.., अब तुम्हारी शांती व याद को भंग से, भरूं अपने जीवन में रंग 
हाय..,शिंगलू कमेटी ने.., बहा दिया, मेरा बचा खुचा, विधान सभा से MCD के खाचे वाला जीवन..