Tuesday, 15 August 2017

अभी भी हममें राष्ट्रवाद का खून मौजूद है..., और हमारे में इतनी शक्ती है कि वोट बैंक की आड़ से , देश में हुआ अन्धकार, अब हमारे देशवासी, विश्वगुरू की ऊर्जा से,एक नया उजाला देकर, वन्देमातरम की दहाड़ से, हमारा देश सुजलाम सुफलाम से ही विश्व के सर्वोत्तम से श्रेष्ठतम बनेगा



वन्देमातरम की दहाड़ से ही , हमारा देश सुजलाम सुफलाम से विश्व के सर्वोत्तम से श्रेष्ठतम बनेगा.

देश के इतिहास में लाल किले का एक शेर , विरोधियों का सूपड़ा साफ़ करने बाद...,चौथी बार बिना पट्टे (जंजीर) की विदेशी इशारों की लगाम तोड़ कर दहाड़ा .., और विश्व के देश..., अभी मोदी द्वारा, भविष्य में अपने पिछड़ने का पहाड़ा समझकर अभी से चिंतित हो गए हैं ..., ७० सालों की तुष्टीकरण की नीती से देश के सुस्तीकरण से देश के बूढ़ेपन को विदेशी बैसाखी देने वालों को चेताया.., अभी भी हममें राष्ट्रवाद का खून मौजूद है..., और हमारे में इतनी शक्ती है कि वोट बैंक की आड़ से , देश में हुआ अन्धकार, अब हमारे देशवासी, विश्वगुरू की ऊर्जा से,एक नया उजाला देकर, वन्देमातरम की दहाड़ से, हमारा देश सुजलाम सुफलाम से ही विश्व के सर्वोत्तम से श्रेष्ठतम बनेगा