Videos

Loading...

Saturday, 21 May 2016

CBI को पिंजरे का तोता बनाकर,काले सफ़ेद खाकी माफियाओं की तूती से स्तुती की आड़ में CBI को (चोर बनाया इंडिया) का खेल बदस्तूर जारी है..


1. मोदीजी तुस्सी ग्रेट हो.., तुम्हारी योजनाएं बेमिशाल है .., लेकिन वो २ साल बाद भी कागजी घोड़े बनकर , सिर्फ घोड़ों के पांवों की   टप –टप आवाज सुनाई दे रही है.., देश के सांसद से छुट भैय्ये नेताओं को अपने छेत्र से कोई सरोकार नहीं है..., देश की ६५% युवा आबादी आपकी योजनाओं को टुकुर – टुकुर ताक रही है..

2.   मोदीजी मेरे दिल की बात शायद  जनता की भी आवाज हो..,७० सालों की क़ानून की बेड़ियों से त्रस्त जनता को निजात पिंजरे में बंद CBI को आजाद कर के ही मिलेगी.. जो राजनेताओं के बने “तोते” से, “बाज” बनकर देश के दगाबाज लोगों को पकड़ कर.., काला धन व महंगाई के माफियाओं से जनता को निजात देंगें.., भ्रष्टाचार मुक्त भारत हुए बिना जनता के “अच्छे दिन” आने के बजाय अब “कच्छे पहिनने” के दिन आयेंगें

3.   CBI को पिंजरे का तोता बनाकर,काले सफ़ेद खाकी माफियाओं की तूती से स्तुती की आड़ में CBI को (चोर बनाया इंडिया) का खेल बदस्तूर जारी है..,

4.   पहले “भ्रष्टाचार मुक्त भारत”..., से ही..,  “स्वच्छ भारत” का नारा सार्थक होगा अन्यथा ये नारा भी भरमानी से मफियायों की मनमानी चलते रहेगी.

5.   देश में अब भी काले धन वालों की बहार है ..,  जनता महंगाई की बीमारी से त्रस्त है . देश के “बापू” विदेशी बैंक के पिंजरे में बंद है , “डॉलर” आपकी उम्र को पार कर रूपये की “कॉलर” खीचकर एक नई ऊंचाई की हुंकार भर रहा है .

6.   आपके कांग्रेस मुक्त भारत के उद्घोष से महंगाई से त्रस्त जनता ने कांग्रेस को अपने पुराने आक्रोश से तो मुक्ती का अभियान  शुरू कर दिया है.., लेकिन आपकी पार्टी की चमक का लाभ , २ सालों बाद भी आम जनता पर नहीं पहुँचने पर जातिवाद,भाषावाद, आरक्षण की गूँज से विरोधियों का जंगल राज का शासन फल फूल रहा है..शारदा , चारा घोटालों, अम्मा का भ्रष्टाचार , मायावती का ताज घोटाला, मुलायम का खाद्यान घोटालों व अन्य नेताओं का रूतबा बढ़ता ही जाएगा.

7.   केंद्र से राज्य सरकारें PETROL को PET –ROLE से खजाना भर रही है व DISEL के ऊंचे भाव से, महंगाई से जनता का दिल – जल रहा है.

8.   अंत में दिल को निचोड़ कर यही कहना चाह रहा हूँ .., प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने तो 1 जोड़ी धोती-कुर्ता  पहनकर मात्र १४  महीनों में देश की युवा शक्ती में “जय जवान –जय किसान” के नारों को सार्थक कर.., नेहरू के शासन काल का भ्रष्टाचार का शौच साफ़ कर देश के माफियाओं से भ्रष्ट नेताओं को मजबूर कर मजदूर बना कर.., अंग्रेजों के जमानों के लुंज पुंज  हत्यारों में राष्ट्रवाद से धार बनाकर.., पकिस्तान के उन्नत अमेरिकी टैंक को मिट्टी में मिला दिया था.



जब तक  “भ्रष्टाचार मुक्त भारत” नहीं बनेगा तो MAKE IN INDIA की आड़ में मीडिया-माफियाओं-सत्ताखोरों-नौकरशाहों के काले धन का अटूट बंधन अबाध गति से चलते ही रहेगा..