Videos

Loading...

Sunday, 28 June 2015

मोदीजी..., A – Z जी घोटालेबाजों के खोलों द्वार, करों देश का उद्धार.., खत्म करो विश्व बैंक का उधार.. , इस सुरंग में .., देश का ७२ लाख करोड़ से कही ज्यादा के काले धन की तिजोरी की.., “यह चाबी है..”, इसमें. देश के धन की चब-चब कर, राशी कैद है.

१.  चेतो मोदी सरकार..., देश को  NATIONALIST-INSTITUTE- ORGANISATION. (NIO).  बनाओ..,
२.  मफियाओं को BREAD – BUTTER का जीवन व आम जनता को गटरी जीवन..., एक देश, एक क़ानून से “मेरा देश महान के  भारत निर्माण  से देश वासी “स्मार्ट” बनकर, देशवासियों के जज्बे व मेहनत  से गाँव ही नही, शहर से देश स्मार्ट होकर देशवासियों के “विश्वास” के “सांस” से ...  विश्वगुरू कहलाएगा ..,  “आम जनता” का जीवन यौवान्वित होकर, चंद  दिनों में “चंगे से, अच्छे दिन” आयेंगें.  
३.  देश के, माफियाओं के आसन से..,  देश की ऐहसानटता   के “अहम्” की झूठी शान के,  से  देश ग्रसित है.., “उखाड़ फेंकों, इन  बेड़ीयाँ को...”  
४.   देश के CHEATER बने हैं..., “EATER” से “LEADER”, से देश पर बनें “LOADER” से, निडर से, आम  जनता को भार – रत  बनाकर, “मेरा भारत महान”, “भारत निर्माण” के माफियाओं के भार के बहार से , गुलजार है , देश का निवासी.., गुलामी के JAR में कैद होकर माफियाओं के पेड़ों के रोप से, आरोप मुक्त होकर,अपने  फूलों की महक से, चहरे पर ललक की चमक है .
५.  हर सख्श परेशान है..,  टैक्स देने के बावजूद, नकली भोजन,दवा,क़ानून से सीने में जलन व आँखों में आंसू है.
६.  राजनैतिक  प्रदूषण से गली मुहल्लों के “खर-दूषण” के तांडव से जनता के  फेफड़ें ख़राब हो चुकें हैं.
७.  देश से, राष्ट्रवाद की हवा गायब हो चुकी है.., देश वासियों को सदमे से दमा होने से, वह बोलने की बजाय “हांफने लगा है ..., अब राजनीती जनता को हांकने से भ्रष्टाचार से फांसने का खेल खेला जा रहा है
८.   चेतों मोदी सरकार.., देश के राष्ट्रवाद नीती से, कोई भी सत्ता का चेहारा, राष्ट्र से सर्वोपरी नहीं हो सकता है...., उखाड़ फेंकों.., ऐसे भ्रष्ट, “वजीरी व जी हजूरीमोहरों को.
९.   (IPL) - INDIAN PROSTITUTION  LAEAUGE,   बना TUTION से काले धन का  POSS INSTITUTION. यह ,  मेरा   “भ्रष्टाचारी देश महान”, यहाँ हर चीज फिक्स होती है  ABL. (ABOVE BHRASTACHAR LAEAUGE, )..,IPL. (INDIAN पियक्कड़ LAEAUGE)..,  से  ZPL ( ZHOOTHA POVERTY LAEAUGE), B.C.C.I बनाम (B). बदनाम  (C). छी: (C). छी: (I). आई,यहाँ  माफियाओं का KING बनकर फसल लह्लाहराई है.., देश फिसल रहा है.., आम  जनता का जीवन फेल होकर,  दुख:दायी है. यह PRESSTITUES  के  “TRP”  का  INSTITUTES है...,  
१०.     IPL की यह किर्ती.., बनी, वेश्यावृती.., विश्व के माफियाओं की कीर्ती बन गई है.., देश विदेश के माफियाओं से दाऊद भी इनका मझा हुआ दूत बनकर “मजबूत” हुआ है .., जनता अपने को “लाचार” समझ रही है, इसलिए देश में “भ्रष्टाचार का अचार”..,  एक उन्नत आचार बन गया है  
११.     अभी ताजा खबर आई है,ललित  मोदी ने बयान  दिया कि देश के २ व वेस्ट इंडीज  के एक खिलाड़ी को मुम्बई में फ्लैट व धन दिया दिया है .., उनसे इनका नाम पूछने से कहा.., यह सब जानकारी BCCI और ICI को भी मालूम है “आप उन्ही से पूछो..
१२.   यह भ्रष्टाचार का सुराग ही नहीं, सुरंग है ..., देश इससे बदरंग हो  गया है .., इसे खोलो तो देश की अंधियारी गुफा में  “भ्रष्टाचारियों के सप्त रंग” के दर्शन होंगें..., मीडिया-माफिया- कार पेटी –सत्ताखोरों की मिली भगत से, देश के माफिया भक्तों के बाबाओं की कुण्डली से देश के अजगरों की सत्ता से, जनता को दबोचने कर निगलने का पर्दाफास होगा..,
१३.    मोदीजी..., A – Z जी के खोलों द्वार, करों देश का उद्धार.., खत्म करो विश्व बैंक का उधार.. ,  इस सुरंग  में .., देश का ७२ लाख करोड़ से कही ज्यादा  के  काले  धन की तिजोरी की..,  “यह चाबी है..”, इसमें. देश के धन की  चब-चब कर, राशी कैद है.
१४.    “बापू” को पैरों तले, रौंद कर.., अब, माफियाओं की फ़ौज  १००० नम्बरी से, देश के “बाप” बनें हैं .., माफियाओं के अकड़न के दंड से.., देश का बापू विदेशी बैंकों में कैद से,  रो रहा है.., नकली बापू के नोटों के प्रसार से माफिया खुशहाल है .., जनता बेहाल है.
१५.     याद रहे..,  क्रिकेट के राष्ट्रीय धर्म के आगे, क्रिकेट के भगवान के महानभक्त श्री... श्री... श्री... 1008 के महान संत के आगे न्याय का भगवान भी झुक गया है..??? मकोका..???
१६.     तिहाड़ जेल में पुलिस की गाड़ी से “श्री संत” ने पुलिस अधिकारीयों को अपनी ऊंगली से “लूल्ली ” दिखाकर.., उपहास किया .., क्या उखाड़ोगे, मेरा.., उखाड़ सके तो उखाड़ों ..
१७.    इस महान संत के लिए, बना, यह मजे का कोका कोला, जेल मे अति विशिष्ठ मेहमान का स्वागत... , अतिथी.., तुम आये और तिहाड जेल की शान बढाई..??
१८.    धन्य है..... तिहाड जेल जो तेरे कदमों से पवित्र हुआ ... जय.. जय..???, श्री... श्री... श्री... 1008 के महान संत....??? गद्दे , पंखे, व आधुनिक सुविधाए, कलमाडी की तरह... अब न्याय के भगवान कलम की आड (क़लमाडी= कलम+आडी) मे न्याय का तराजू , कानून के किताबो के साथ ही गायब हो गया है... 
१९.    कलमाडी से A – Z राजा क़ानून को ठेगा ठेंगा दिखाकर खुले आम  घूम रहें हैं .., व श्री संत, फ़िल्मी हीरों बनने की आस पूरी कर चुके हैं ..
२०.    इस, श्री संत के भ्रष्टाचार के  कर्मों को  तो राजनैतिक माफियाओं ने  दलबंदी कर कह रहें हैं , साध्वी प्रज्ञा सिंग के गुनाह इससे  लाखो गुना गंभीर है....??? जब, साध्वी के सामने नार्को व झूट पकडने वाली मशीन भी फेल हो गई...????
 अदालतों  ने तो, राजनेताओ के बंधक पुंलिस अधिकारियों से कहा ... क्या आप प्रज्ञा साध्वी को जिन्दा देखना चाहते हो.... प्रज्ञा साध्वी ने  मकोका को ... “मौत से  अकेला झेला”..., सभी राजनैतिक दल, अब भी  धर्मनिरपेक्षता की कमीज