Friday, 2 January 2015



इस धरती में कोई स्वर्ग में पैदा होता है तो वह है...,भारतीय खाद्य निगम में पैदा होने वाला चूहा , और सत्ता खोरों के लिए भ्रष्टाचार की जीवनदायनी, F.C.I. बना FOOD CORRUPTION OF INDIA , जब योजनाए बनी भोजनाए, भोजन का अधिकार , बना लूट का आधार..., 
F.C.I. के खलासी का 70 हजार का वेतन , और बाबू का लाख रूपये से ज्यादा वेतन, जिन्हें वतन लूटने का अधिकार मिल गया है..., 

मुलायम सिंग यादव जो ६० हजार करोड़ के अन्न घोटाले में संलिप्त पाए गये है.., सी.बी.आई. की जांच के झांसे, पिछले १० सालों से कांग्रेस ने मुलायम सिंग के बैसाखी से सरकार चलाई है...,
योजनाओं का अन्न सीधे आटा मिलों में जाकर , सभी दलों ने भ्रष्टाचार से अपना दिल मिलाया हा..,
अनाज को सड़ाकर , सत्ता की शराब बनाकर, जश्न –ए –सत्ताशाही से देश में राज किया है...
सुप्रीम कोर्ट को धत्ता बताकर, संविधान के रक्षक कह कर, देश के गरीबों के पेट में लात मारकर, इस घोटाले से गरीबों का गला घोटकर..., यूं, कहे संविधान को सड़ाकर देश में भ्रष्टाचार के बड़बोले पन से देश को लूटने का अधिकार पा लिया है...
शरद पवार जो कृषी मंत्री से ज्यादा क्रिकेट मंत्री बनकर, U.P.A.-१ व २ में भीष्म पितामह बनकर , गरीबों की योजनाओं में छक्का मारकर. बेदाग बने है.., क्योंकि इनकी गेंदे, भ्रष्टाचार के स्टेडियम से बाहर गिरी है.., किसी को मालूम पड़ने नहीं दिया है कि यह गेंद कहां गयी है...,
क्या अच्छे दिन आने वाले हैं, मोदी सरकार ..., इस घोटाले की तह तक जाकर इसकी जांच करेंगी ....!!!!!