Tuesday, 7 October 2014



नरेन्द्र मोदी ने दिखा दिया है..., ५ साल तक सत्ता का मेवा खाकर, देश की समस्याओं में आँख मूँद कर सोने वाले.., चुनावी बरसात, में वादों की बरसात करने वालों के अब दिन लद गयें हैं...,अब जनता भी अपने विवेक से इनका हिसाब लेकर..., जवाब दे रही है ,
राहुल गांधी बने कांग्रेस के राहु ...जहां भी चुनाए प्रचार में कदम रखा ..., पार्टी का भट्टा बिठाया.., वंशवाद के नाम से पुरखों की संवेदना बनी वेदना, 
वे,देश के प्रलय काल में विदेशों में जश्न मना रहें थे , और कांग्रेस की भारतमाता सोनिया गांधी भी देश के मुद्दों पर चुप थी ...अब जनता ने सत्ता पलटकर इसका जवाब दे दिया