Thursday, 18 September 2014

आओं, पार्टी नहीं देश का पार्ट बने, 
सभी दल सीट बंटवारे को लेकर एक दूसरे का द्रोपदी चीर हरण करने, धौंस देने से लेकर,खुद की गोटी फिट करने की कोशीश में जुटे हुए हैं, जिसमे आम आदमी की लहूलुहान चींखों को सुनने वाला कही नजर नहीं आ रहा है, जबकि सत्ता के महा भोज में खद्दरपोश गिद्धों का रोटी बोटी युद्ध देखकर, जनता न सिर्फ हैरान है बल्कि बदहवास भी है क्योंको आम आदमी के दुखों की जलती चिता की आंच पर उसके रहनुमा , अपने-अपने हिस्से की रोटी सकने में लगा है ..
मेरे वेबस्थल का स्लोगन है...,सत्ता मेवा है, उसकी जय है, सत्य आत्महत्या कर रहा है .., अब इन गिद्धों की लड़ाई में शिवसेना, भाजपा को कमलाबाई बनाती है या भाजपा, शिवसेना को गमला राम बनाता है
कोई भी पार्टी ,देश व तुम्हारे रक्षक नहीं है..., देश को उन्नत बनाना है तो चलों राष्ट्रवाद की ओर
फेस बुक में About लिंक की पोस्ट:
Let's not make a party but become part of the country. I'm made for the country and will not let the soil of the country be sold.
Description
आओं, पार्टी नहीं देश का पार्ट बने, “मैं देश के लिए बना हूँ””, देश की माटी बिकने नहीं दूंगा , “राष्ट्रवाद की खाद” से भारतमाता के वैभव से, हम देश को गौरव से भव्यशाली बनाएं,