Videos

Loading...

Monday, 15 September 2014



भीष्म पितामह का यह छक्का , चुनाव आयोग भौचक्का , सुप्रीम कोर्ट अभी चौंका , सूना दिया फरमान ..., इस छ्केड़े नेता के नशेड़ी बयान की गेंद ढूंढो..
लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे शरद पवार ने नवी मुंबई में माथाडी कामगारों की एक सभा की थी . यहां एपीएमसी मार्केट के कामगारों को संबोधित करते हुए कहा, 'इस बार सतारा और मुंबई में अलग-अलग दिन मतदान हो रहा है, तो आप सब पहले सतारा में वोट करो फिर 24 तारीख को मुंबई में आकर वोट करो. लेकिन ये करते वक्तब हाथ पर लगी स्यागही पोछना मत भूलना. पिछली बार वोटिंग एक ही दिन हुई थी तो कम वोटिंग हुई. इस बार अलग अलग दिन वोटिंग है

वही चुनाव आयोग ने चेतावानी देते हुए छोड़ दिया है.. चुनाव आयोग की चेतावानी नेताओं को चेतने की छावनी बना कर अगले बयान की दहाड़ का इन्तजार रहता है...ताकि वह चेते और अगले नए विवादास्पद बयान की तैयारी करे
याद रहें ... २००९ के लोकसभा चुनाव के दौरान नई मुम्बई के धाकड़ नेता व शरद पवार के दांये हाथ गणेश नाईक जिन्होंने पिछले नगरपालिका चुनाव में राज ठाकरे के इंजन का कोयला ख़त्म कर अपने दम पर सत्ता काबिज कर.., महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना का भाषावाद का जोश खत्म कर दिया था...,
इन्ही गणेश नाईक के वाइट हाउस कार्यालय में चुनाव के दौरान ५० हजार बोगस राशन कार्ड के जखीरें मिले थे.., जिसमे उनके पुत्र संजय नाईक की विजय हुई थी , पुलिस द्वारा छापा मारने के बाद, मनमोहन सरकार के कार्यकाल में भीष्म पितामह के वर्चस्व से यह मामला दबा दिया गया व चुनाव आयोग ने भी संज्ञान नहीं लिया,
इसी फ़ॉर्मूले के तहत चुनाव के दौरान मुम्बई में भाजपा के धाकड़ नेता किरीट सोमैया ६ लाख की वोटिंग में मात्र २५० वोटों से शरद पवार के उम्मीदवार संजय पाटिल से हार गए थे
भीष्म पितामह जो अपने जीवन में बेदाग़ ही साबित हुए है..,चाहे वो २ लाख करोड़ के आदिवासीयों से छीनी गयी जमीन से, भू-माफिआयों के गठ जोड़ से लवासा जैसे शहर की बंदरबाट, किसानों की आत्महत्या, कृषी घोटाला व अपनी बेटी को सिंगापुर की दोहरी नागरिकता का मामला हो...
इसे कहतें है राजनीती.., जो संविधान ऐसे भीष्म पितामह को पैदा करता है और आगे भी पैदा करता रहेगा..,
अब देखना होगा.., अक्टूबर के महाराष्त्रके विधानसभा चुनाव में ये क्या गुल खिलाते हैं...,
क्या मोदी व अन्य विरोधियों की गेंद को समा पार ठिकाने लगा पातें हैं या अपने क्लीन बोल्ड होने का ठीकरा किसी और पर फोड़ते है..