Monday, 22 September 2014


मोदीजी तुस्सी ग्रेट हो.., अकेले दम पर “रेंगती भाजपा” को अपने दम व एक ही दंभ से मिशन २७२+ का लक्ष्य प्राप्त कर देश व दुनिया को अचंभित कर दिया 
देशी विदेशी मीडिया, जो पिछले १२ सालों से गुजरात दंगों को भांग बनाकर, जनता को साम्प्रयवाद का नशा देकर ...,अब उनकी भोंपू की आवाज नेपथ्य में चली गई ...

विश्व हैरान व परेशान..., कैसे मिला मोदी को राष्ट्रवाद से लोकतंत्र का वरदान..., कैसे साफ़ हुआ कांग्रेस का खानदान.., अब कोई नहीं है इस खेल का समाधान .... ,
तोड़ों और राज करो के जगह अब मान लो, सबका हाथ – सबका विकास का नारा ..., नहीं तो बजेंगें अपने बारा
मोदीजी ,अब विश्व को आपने अपने शर्तों से झुका दिया है ........

लेकिन ..., आपके पुच्छले नेता जो आज १२ घंटे काम करने पर हांफने लगते है... और आपकी जीत के श्रेय को , “कुर्सी”, एक ध्येय बनाकर , अभी भी खुमारी में हैं ..., जो इनकी पुरानी बीमारी है..

अब जनता ने भी .., उपचुनाव में वोट की छड़ी मारकर , स्पष्ट आदेश दे दिया है..., हमें, अब मत भारमाओं , अब हम लोकतंत्र के शोषित नागरिक नहीं ..., सुशोभित लोग है..,