Friday, 2 May 2014



कांग्रेस के.., इस “कौआ” के कव्वाली से यह “कोयल” अपने पति से जुदा होकर , कौआ के सोने के पेड़ में, “धन के अंडे” सकने के लिए अर्धगंज खोपड़ी के घोसले पर अपने फायदे के लिए फ़िदा हो गई .., इस टी आर पी के जोश में इस कोयल ने कांग्रेस के, कोयले घोटाले व अन्य मुद्दे गायब कर दिए है.. इसे कहते है “कौआ व कोयल” दोनों चालाक, और कोयल भी ले रही ले रही है अपने पुराने घास फूंस के झोपड़ी से तलाक