Monday, 5 May 2014



आज की..., अमेठी से शेर की दहाड़ ..., एक राष्ट्रवादी की ललकार..., अलगाववाद , भाषावाद, जातिवाद ..घुसपैठीयों को थप्पड़ , विरोधी बने अपने ही बयानों से अक्कड़ , बक्कड..,अब चुनाव आयोग से करें गुहार, हमें बचाओ इस बार , करो हमारी डूबी हुई नैय्या पार