Thursday, 22 May 2014



नरेन्द्र दामोदर दास मोदी बने..., विरोधी व दुश्मनों के लिए , 
“नरसिंह दमदार ख़ास मोदी...,”
सत्ताधारी पिछले १० सालों से भ्रष्टाचार , जातिवाद, वोट बैंक का गांजा पीकर, सत्ता के नशे से गंजे हो गए, मोदी को गुब्बारा कह..राष्ट्रवादी बम से तितर बीतर हो कर अपने संघटन के पदों से भी हाथ धो बैठे, इस शेर की दहाड़ अमेरिका की छटपटाहट से उसने अपने राजदूत नैंसी पावेल की बलि ले ली 
आओं, पार्टी नहीं देश का पार्ट बने, “मैं देश के लिए बना हूँ””, देश की माटी बिकने नहीं दूंगा , “राष्ट्रवाद की खाद” से भारतमाता के वैभव से, हम देश को गौरव से भव्यशाली बनाएं- कैलाश तिवारी