Friday, 2 May 2014



जरूर पूरा पढ़े..,नो हिन्दू नो मुस्लिम वी आर हिन्दुस्तानी फर्स्ट .. 
धर्म के नाम से वोट बैंक की आड़ से हर देशवासी frustrated /निराश. विफल किया गया है...इसी वजह से देश हर साल फिसल कर ,देशी विदेशी माफियाओं की लूट से बिक कर डूबने की कगार में है...
मेरे ब्रदरहुड, व हिन्दू ,सिख ,इसाई दोस्तो, राष्ट्रवादी हिन्दु,मुस्लिम व अन्य धर्मो के लोगो को मेरा सलाम,नमस्कार, सतश्रीकाल ....
क्या आपको मालूम है..?? ""सारे ज़हा से अच्चछा हिन्दोस्ता हमारा,,, के कवि इकबाल भी पाकिस्तान बनाने के पक्ष मे थे...??? 1943 मे उनकी मृत्यु हुई,
राष्ट्रवादी का अर्थ की परिभाषा .... , जब मुहम्मद करीम छागला , जनता पार्टी मे मानव संसाधन मंत्री थे, तब उन्होने अलीगढ मुस्लिम युनीवर्सीटी मे हिंन्दु कुलपति व बनारस हिन्दु युनीवर्सीटी मे मुस्लिम कुलपति नियुक्त किया था, है आज कोइ माई का लाल....!!!!!!!!!!!, इस राजनिती मे इस तरह का साहस करने वाला, मुहम्मद करीम छागला जो जिन्ना का दायाँ हाथ था, पाकिस्ताने के विरोध के साथ वह जिन्ना का दुश्मन बन गया, मुहम्मद करीम छागला हमेशा मुस्लिमो से कहते थे , तुम पहले हिन्दुस्तानी हो, बाद मे मुसलबान, हिन्दुओ का खुन आप मे है, इसलिए सभी धर्मो से भाई चारा रखो, राजनेताओ की कठपुतली मत बनों...?? उन्होने बोम्बे हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस रहते हुए, हर धर्म के लोगों को समान निर्णय दिया, यहँ तक की जवाहरलाल नेहरू की भी भ्रष्टाचार की पैंट खोल दी थी, बिना राजनैतिक दबाव से....जय हिंद....

आज देश को बग्लादेशीयो ने घुसपैठ के नाम से देश को बरबाद कर दिया है, इसमे मुस्लिमो के हक के साथ हिन्दुओ का भी हक छीना है...??? यह जरूर याद रखें ...., वोट बैक के आड मे दोनो कौमे गरीब हो रही है,,,
यह देश का इतिहास कहता , खास कर 1947 के बाद से. दंगे राजनेताओ को भाँग देता है, वह सत्ता के नशे मे चूर रहता है, और जनता आपस मे धर्म के लडाई मे मारी जाती है,मुजफ्फरपुर से हर दंगे सत्ताखोरों के लिए वोट बैंक से सत्ता का मौजपुर नगर बना
आज देश आम आदमी के हाथों से चलना चाहिए, लेकिन सत्ताधारिओं की गाडी आम आदमी के नारो से चल रही है, आम आदमी की मेहनत को नारो मे बदलकर देश के भष्टाचारिओं की गाडी चल रही है? सत्ता के पकड के लिये सत्ताधारी एक दूसरे कि कमजोरी की पोल का फायदा उठाते हुए सत्ता मे रहकर लूट मार मे व्यस्त है?
आज इस देश मे देशद्रोही कौन ? आत्महत्या करने वाला गरीब अन्नदाता किसान, देश के गर्व के लिये सीमा पर सिर कटाने वाला जवान,अपने शोषण का विरोध करने वाला आम आदमी, भूमि अधिग्रहण का मोहरा बनने वाला,अनगिनत टैक्स का बोझ उठाने वाला,वायु प्रदूषण, गन्दे पानी पीने वाला...विकास के हत्यार, महँगाई से तडफनेवाला और वह शोषण का प्रतीक,गुलामो की तरह जीवन जीने वाला.......एक सरल इन्सान..?? आज इस देश मे देशप्रेमी कौन ? देश के संसाधनो पर अपना अधिकार समझकर, उसकी लूट कर, देश में अकूत सम्पति रखने वाले, विदेशी बैको मे काला धन रखने वाले, नकली दवायें, मिलावटी खाना,गलत इलाज,किसानो का शोषण,जनता की स्वास्थय व विकास की योजनाओ का धन डकारने वाले,कानून को झुकाने वाले, अलगाववाद, भाषावाद,जातिवाद से लडाने वाले, भ्रष्टाचार को अपना देवता मानने वाले.... आज देश के नेता व दबंग भेडियें, देश प्रेमी का चोला पहनकर देश को लूट रहे है? इसलिये मै भी इसी प्रतिरोध के लिये देशद्रोही बनकर लड रहा हूँ?
आज के ,माफियाओं के भ्रष्टाचार का रॉकेट का प्रक्षेपण इतना अचूक है कि, आज तक इनका एक भी रॉकेट फेल नही हुआ है....???, जबकि , श्रीहरीकोटा व देश के अन्य भागो से इसरो के रॉकेट कभी कभार फेल होते रहे है, इससे यह संदेश के साथ दर्शाता है, कि, भ्रष्टाचारी माफिया के रॉकेट, एक-एक नए प्रयोग व भ्रष्टाचार के अनुसंधान से, इसरो के रॉकेट से भी.... और उन्नत बनाकर देशवासियों की कमाई , इस रॉकेट के ईंधन मे फूंक- फूंक कर उड़ाई जा रही है
बीएसपी सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने संसद में वन्देमातरम का अपमान किया और जैसे ही राष्ट्रगीत की धुन बजी सांसद बर्क संसद भवन से उठकर बाहर निकल गये, what is ur opinion on this subject

देश के सत्ता के घोटालेबाजों को देश को लूटने से फुर्सत नही है, जब देश मे लूट मे छूट है तो अपने लूट का समय,बर्बाद कर ..., क्या..?????, वे तुम्हारी समस्या को देखेंगे..उन्हें पता है हमारे माफिया राज के सामने संविधान भी पंगु है..
– 
अबू आजमी जी.., मुसलबानों का डी.एन.ए..तो हिंदुस्थानी है... , दोस्तों ... क्या यह मेरा देश लूटा या मेरा देश डूबा