Saturday, 26 April 2014



नेहरू ने तो सत्ता के साथ..., विदेशी विष कन्या एडविना बेंटन का आनंद भोगा, कांग्रेस शाईनिग की चमक बढाने के लिए, सीताराम केसरी को लात मारकर , विदेशी कन्या को धन्या कहकर विदेशी बहू को विलक्ष्ण बहू बनाकर, हूकूम की रानी बनाकर ,इसने स्वंयवर से मनमोहन सिंग को सत्ता का १० वर्षों का वर चुन कर सुला दिया. , .इसी आड़ में देश की धरती,पाताल,जल, आकाश की संपदा बेचकर अपना काले धन का तीसरा कदम विदेशी स्विस बैक से अन्य जगहों पर रखा है..अभी इस रहस्य का पर्दा उठना बाकी है

आज मोदी ने गुजरात को सत्ता का सुख नहीं , अपने को भारतमाता का बेटा मानकर, गजरात की विकास से सेवाकर, गुजरात को विश्व के मानचित्र में चमक दिखाकर, विकसित देशों में हडकंप मचा दिया है... , इसे, वे हमारे देश को मोदी , एक तानाशाही की छवि से जनता को जनता को डराने के खेल में सहभागी भूमिका निभा रहें हैं ...
देश में मोदी लहर , विदेशी ताकतें.., अब बेअसर , आतकवादियों को अब हो रही फिकर. काफिर अब करें फिकर, सोनिया को अब लगे सत्ता एक जहर, उमर अब्दुल्ला को लग चुका है.., धारा ३७० अब हो जायेगी बेअसर, “आप पार्टी” का कश्मीरी मुर्गा का “कूक्डू शोर” का नौटंकी शो. अब कूड़ा में जाकर.. अब हो गया है, बेअसर .... वोट बैंक से तुष्टीकरण करने वालों , मृग मारिक्चाओं का , अब देश से होगा हरण..