Monday, 31 March 2014


यह GOD नही, माफियाओ के लिए “GOOD FACTOR” है, बीजेपी ने जो, अपने सत्ता के उजड़ने से पहले जो नारा दिया था “FEEL GOOD FACTOR”, कांग्रेस ने इसे सार्थक कर, घोटालो से अपना पेट भर कर, अच्छा लगने के FACTOR से (गुणनखाना), अपनी तोंद बढ़ाने के गुणा भाग की (गुणा करो और देश से भागने की तैयारी करो ) होड मे लगे हैं और इंडिया शाईनिग का नारा….. अच्छी तरह सुधार कर “भारत निर्माण” के नारे से..., देश को कर्ज से उजाड़ दिया है...
नारे देश की चोरी कराते है,और दूसरी पार्टीयों द्वारा चुराये भी जाते है, राजीव गांधी ने सत्ता का सांप्रदायीकरण के नाम से बावरी मस्जिद का ताला खुलवाया और ‘मेरा भारत महान” की आड़ मे, बोफोर्स के खाली तोपो के घोटाले ने, उनकी कुर्सी छीन ली , विश्वनाथ प्रताप सिंग ने इस घोटाले की जाँच से, बेहद ईमानदार छवि से जनता के भरोसे को झाँसा देकर, प्रधानमंत्री बन बैठे , सत्ता मे आते ही , बोफोर्स के खाली तोपो की जाँच कूड़े मे डाल कर , एक साल के भीतर उन तोपों मे आरक्षण के मंडल कमिशन का गोला भरकर, उनके ही, भारतीय जनता पार्टी समर्थन वाली पार्टी पर ही दागने लगे , तब इन गोलों को निष्क्रिय करने के लिए , भारतीय जनता पार्टी ने बाबरी मस्जिद के मुद्धे से, बोफोर्स के गोलों कमंडल मे भरकर, विश्वनाथ प्रताप सिंग, को NO-FORCE कर सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा दिया,
भारतीय जनता पार्टी के सत्ता मे आने पर, कमंडल का मूद्धा छोडकर.... बाजार को बढ़ावा देकर WTO, MCX से ,देशी उत्पादको के कारीगरों के हाथ काटकर , आम जनता का निवाला छीनने की शुरूवात से मदमस्त हो कर , “FEEL GOOD FACTOR” और “इंडिया शाईनिग” के नारो से, समय से ८ पहिले चुनाव करवा कर, सत्ता से हाथ धो बैठी... उसी तरह आम आदमी के हाथ (कांग्रेस) व आम आदमी के हाथ की टोपी (आप) पार्टी मे, आपस मे नारे चुराने के आरोपों की जंग छिड़ी हुई
थी .. , दिल्ली विधानसभा मे हुए चुनाव मे, कांग्रेस के भ्रष्टाचार के ग्रेस मार्क से आम आदमी छुपा रूस्तम साबित होकर, कांग्रेस के हाथों के सहारे सत्ता में आ तो गयी , जब गद्दी में बैठते ही जब आप पार्टी” को उन्हें अपने ही झाडू के तिनके, खटमल ( आप पार्टी के कार्यकताओं के सत्ता की लोलुपता) से ज्यादा काटने/ चुभने के डर से वह भाग खडी हो गयी है अब नरेन्द्र मोदी की राष्ट्रवादी गर्जना से, सत्ता की होड़ में विपक्षी पार्टी में , जनता के सभी मुद्दे गायब होकर विपक्षीयों में मोदी रथ को रोकने “मंदबुद्धीयों ” के अश्लील बयानों की होड़ लगी है, अपने को पागलखाने में जकड़ा हुआ समझ रहें हैं