Monday, 17 March 2014


पप्पू फेल हो गया, अब यह A.T.K.T. – (ALLOW TO KEEP TERM को SWOLLOW TO KEEP COUNTRY TERM ) को अब अजगरी चाल से भ्रष्टाचार से निगलने का खेल है...अब भारत निर्माणके नारों से भ्रष्टाचार निर्माणकी चाल से ये अपनी भ्रष्टाचार की दाल गला रहें हैं...
राजीव गांधी ने मेरा भारत महानसे देश की सुरक्षा से खिलवाड़ कर बोफोर्स घोटाले से यह नारा मेरे देश के साथ विदेश का माफिया धनवानके नारे से देश की गंगा धोने के घोटाले के बहाने , एक राजनीती में शुद्ध भ्रष्टाचार की गंगाका प्रवाह बनाया, यही गंगा आज देश के नगर से मुहल्ले तक बहकर देश को डूब डूबा रही है.. विपक्षी भी WE पक्षी बनकर ,नहाकर, अपने पंखों में भ्रष्टाचार के ऑक्सीजन से एक स्फूर्ती ले रहें हैं... हर पार्टी में वंशवाद से , देश के काले कोबरे.... दंशवाद के चेहरे हैं...
जागों देशवासियों पार्टी नहीं देश का पार्ट बनोंराष्ट्रवाद की खाद से देश को सुजलाम सुफलाम् बनाएं, 
पप्पू फेल हो गया, दलितों के घर जाकर, दलितों का खाना खा गया , उनके चमचों ने इस भ्रष्टाचार से प्रेरणा लेकर , कॉमन वेल्थ खेलों से दलितों के १० हजार करोड़ की रकम डकार ली.. भ्रष्टाचार के बाढ़
से केदारनाथ के पहाढ़ डूब गए.. कर्जे से देश तो पहले ही डूब चुका है.. डॉलर झालर बनकर रूपये की कॉलर खीच रहा है