Saturday, 22 February 2014



मोदी से...!!!, सत्ता के भोगी ...भाग के डर से ...एक दुसरे से फेककोल का जोड़ बना रहें है...
यह राष्ट्रवाद की आंधी है...., गंदी राजनीती की कुर्बानी (आत्महत्या) है, 
अब चलेगा किसानों का ट्रेक्टर, सीमा पर जवान बनेगा रिएक्टर ,
साक्षरता, प्रतिभा के जज्बों से देशवासी बनेगा, अपने हुन्नर का डॉक्टर.