Tuesday, 12 November 2013


दोस्तो, सत्ता के हस्तांतरण से आजादी के नाम से विशेष कर काँग्रेस के नीजी कार्यकाल से गठबंधन काल से, खासकर इस काल मे यू.पी.ए-1 की (लूट -1) फिल्म बनाई. और यू.पी.ए-2 की (लूट -2) की काली फिल्म से देश के बैंको से ज्यादा विदेशी बैकों को लूट -2 का खजाना मिला है... आज इन नेताओ की आत्मा भ्रष्टाचार से तो और मजबूत हो रही है... और इनके सामने जनता की आत्मा भी डर गई है... जागों, यह देश भ्रष्टाचारियो का नही हमारा है ,- यह आलेख जरूर पढे.... मेरा देश लूटा और देशवाशी भूखा..