Sunday, 27 October 2013




यह सादगी नहीं..जीवन की ताजगी है....माफिया बुद्धी मोहन के पास तो रिमोट कंट्रोल की फीमेल है, मोबाईल की जगह मोबीलीटी के लिए... अरबों रूपयों के विशेष विदेशी जहाज हैं..., कही उनका जीवन मोबाईल से दुनियाँ वाले हैक न कर ले, वे सत्ता को जैकपॉट कह कर... हाल ही में बयान दिया था , “प्रधानमंत्री पद तो सितारों के पार की दुनिया है...,” यह है डूबे देश के आधुनिक पुतला मंत्री जो अपने जीवन की तुलना प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री से कर है है, याद रहें... सादगी की वजह से उनका जीवन ताशकंद में, देश के सत्ता के भेडियों के मिलीभगत से हैक कर उनकी हत्या कर दी गई थी
सादगी की वजह से बेमौत मारे गए...लाल बहादुर शास्त्री के बारे में जितना भी लिखा जाय कम है ... कलम भी लिखते लिखते आंसू बहाती है .... जो अपने बेटों को सरकारी कार में बैठने नहीं देते थे...कहते थे, बेटा यह कार मेरी नहीं... देशवासियों के खून पसीने के टैक्स के पैसे की है, प्रधानमंत्री कार्यालय में पहुचने पर उस कार को , दूसरे अधिकारीयों को सरकारी कार्य के इस्तेमाल के लिए देते थे ,
उनके बडे पुत्र को जब हिंदूजा ग्रुप के कंपनी से इंजीनियर का नियुक्ती पत्र मिला तो शास्त्री जी ने कहा ... बेटा किसी को खबर लगने नही देना कि.... “मै प्रधानमंत्री का पुत्र हूँ..,” ६ महिने बाद, हिंदूजा ग्रुप को पता लगा , तो उन्होंने शास्त्री के बेटे को कंपनी के निदेश पद पर नियुक्त करने के लिए लाल बहादुर शास्त्री को प्रलोभन दिया तो उन्होंने कहा “यदि मेरा बेटा इस काबिल है तो उसे नियुक्त करे , लेकिन आप मुझसे कोइ अपेक्षा नहीं करना ....,”
याद रहे इंडिया शाएनिग के नारे से भारतीय जनता पार्टी में अन्धेरा छा गया तो... काग्रेस के युवा राहुल गांधी के टक्कर में. भारतीय जनता पार्टी के युवा भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष के रूप में नियुक्ति करने के पहले ही राहुल महाजन के कोकिग के नशे से, भारतीय जनता पार्टी को किंग (कोकिन) बनाने की तैयारी में, पिता की अस्थि विसर्जन के समय , दिल्ली में राहुल महाजन कोकिन के नशे से..., मौत के मुंह से बाहर निकले,. शायद प्रमोद महाजन के घोटाले से प्रभावित होकर जेट एयर वेज ने अपने को.., किग बनाने के लिए ...कोकिग किंग को पायलेट पद पद पर नियुक्त किया था , अभी सुब्रमण्यम स्वामी ने खुली चुनौती दी है कि ... राहुल गांधी भी कोकिन के नशे में देश का किग (राजा) कोंग बनने का ख्वाब देख रहा है,..कॉग्रेस की तरफ से भी सुब्रमण्यम स्वामी के बयान का आज तक खंडन नहीं किया है ....यही कारण है कि सत्ता तो... अफीम है , लेकिन अफीमीओ के नारों के नशों से जनता बेहेश होती है..