Friday, 9 August 2013

देश की शान, स्वाभिमान तिरंगा देश मे, लहराता....???? लेकिन बड़े दुख के साथ लिखना पड रहा है.... यह तिरंगा हाथ बांधे व पैरो मे बेड़ी डाले, सेनाओ के निर्दोष शहीद जवानो पर डाला जा रहा है।

देश की शान, स्वाभिमान तिरंगा देश मे, लहराता....???? लेकिन बड़े दुख के साथ लिखना पड रहा है.... यह तिरंगा हाथ बांधे व पैरो मे बेड़ी डाले, सेनाओ के निर्दोष शहीद जवानो पर डाला जा रहा है। काश्मीर की समस्याओ के शहीदो के जवानो की संख्या 1962-1965-1971 के युद्ध मे अपने जज़्बे से लडकर शहीद जवानो से, कई गुना ज्यादा है।
याद रहे... दो साल पहले इंग्लैंड के प्रधानमंत्री ने, अपने देश के दंगो से, अपना विदेश दौरा रद्द कर इस समस्या का निदान करने के लिए संसद को पूरे दिन व पूरी रात चलाया।
वही॥, हमारे डूबते देश की तस्वीर यह है...?????, रक्षा मंत्री एंटोनी, पाकिस्तानी सेना का बचाव करते हुए... उन्हे स्फूर्ती देते हुए कह रहे है...???? इसमे पाकिस्तानी सेना नहीं, आतंकीभेषी सेना का दोष है। लेकिन हमारा .... सुपर पावर पुतला खामोश है। विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद भी कह रहे है प्रधानमंत्री को बयान देने के लिए विपक्षी मजबूर नहीं कर सकता है। संसद की इस टालमटोल बहस का परिणाम कुछ नहीं होगा। आज 66 साल बाद भी सीमा सुरक्षा नीति व खाद्य सुरक्षा बिल नही बना। पक्ष व विपक्ष दोनों इस बहसबाजी से संसद का समय बर्बाद कर इन दोनों बिलों को टालना चाहती है। यह दोनों गंभीरतम समस्याए है...?
तो क्यू नहीं...????? हमारी संसद, इंग्लैंड की तरह 24 घंटे चले। मैंने मेरी पुरानी पोस्ट, फेसबुक व वेबस्थल मे लिखा है (कार्टून के साथ)...... देश मे इतनी समस्याए है कि यदि संसद साल के 365 दिन 24 घंटे भी चले तो भी...???? समस्याए सुलझ नहीं सकती है। देश का सांसद प्रतिदिन 18000 वेतन लेकर ( साल के 62 लाख) व अन्य भरपूर भत्तो की, भरपूर सुविधाएं अलग से लेकर, संसद के भोजनालाय मे, 12-18 रुपये का पेटभर खाना खा कर देश की दुविधाएँ बढ़ा कर देश का समय बर्बाद कर रहा है। यो कंहे... संसद मे सेकी जा रही है, शहीदों के नाम पर रोटिया...?? , सीमाओ पर जवानो को खानी पड़ रही है गोलिया ...???, भ्रष्टा चारी व माफिया... खान, खदान, देश का ईमान बेचकर, व नकली मिड डे भोजन से...???? और मीडिया टी आर पी के चक्कर मे, पेड मीडिया बनकर, पेट भरी बनकर....,मना रही है रंगरेलिया...??????