Saturday, 18 May 2013


देश के अति गरीबो व अनपढ लोगों को लेपटाँप व टेबलेट पीसी चाहिए...???
देश के गरीबों के तन ढकने के लिए कपडे नही है, और इलाज के लिए दवा खरीदने के लिए पैसे नही है, इन गरीबों के इलाज के नाम से किडनी चुरा ली जाती है,
इलाज के नाम से विदेशी कंपनीया , प्रयोग के नाम से इन्हे गिनी पिग बनाकर, इनके जिन्दगी के साथ खेल कर अपने दवा के प्रयोग से विदेशों मे अरबों - खरबों रुपये कमा रही हैं..??? 35 हजार करोड से ज्यादा का व्यापार इस आड मे देश मे चल रहा है... और इसमे..गरीबों को मौत के नाम पर कोई मुआवजा नही मिलता है. देश का सभ्य कहने वाला माफिया वर्ग, सत्ताधारियो की मिलीभगत से इसकी मलाई खा रहा है. सरकार भी आँखे मूँदे बैठी है..??? और आप सभी जानते है , गरीबों के भूख की योजनाओ व विकास योजनाओं को डकार कर ही तो देश चल रहा है........???????????????????
हाल ही मे अखिलेस यादव के लेप टाँप व टेबलेट पी सी से युवक वर्ग का वोट झट्का, व बाद मे व चुनाव मे जीत के बाद लाखो लोगो के आवेदने कचरे के डिब्बे मे मिले, चन्द लोगो को दिखावे के नाम पर लेप टाँप भी दे दिये
याद रहे अखिलेस यादव के चुनाव मे जीत के समय, उत्तर प्रदेश , जापानी बुखार का प्रकोप फैला हुआ था, हजारो बच्चो की इस बुखार से मौत हो रही थी, उत्तर प्रदेश सरकार तो जीत के जोश से होश मे नही थी, उस समय दुनिया के नम्बर 1, खरबपति बिल गेट्स बिहार मे थे , जिन्होने बिहार के कई जिले, विकास के लिए अपनी निगरानी मे गोद लिए है..
जब उन्होने उत्तर प्रदेश के जापानी बुखार के प्रकोप को सुना तो वे अपने गाडियो के काफिले के साथ, मीडिया की अनुपस्तिथी में चुपचाप उत्तर प्रदेश के गावों के तरफ निकल पडे, रास्ते मे एक जबह कचरा बीनने वाली बच्चीया दिखी... तो वे कार से उतर कर, उनसे पूछा? क्या..?? तुम स्कूल जाती हो..?? तब उन बच्चीया ने कहा, स्कूल..???? क्या चीज होती है...???, हमें पता नही है गये , उत्तर प्रदेश के गाँवों मे पहुँचकर, बच्चो की स्तिथी देख द्रवित हो उठे, और सीधे अखिलेस यादव से मिल कर उनके स्वास्थय योजना की जिम्मेदारी अपने धन व कार्यकर्ताओ से कराकर की , अगले दिन अखबारों मे आया बिल गेट्स अखिलेस यादव मे मिलने आए, लेकिन मूल कारण किसी भी अखबार मे प्रकाशित नही हुआ....?????
आज हर प्रदेश अखिलेस यादव के चुनाव झाँसे , लेप टाँप व टेबलेट पी सी , को चुनावी जीत का माँडल मानकर, घोषणा करने की ताक मे है.. कुछ प्रदेशों ने तो घोषणा भी कर दी है...???? क्या यह झाँसा या गरीब इसमे फँसा ... या मेरा देश डूबा ...???