Monday, 6 May 2013

वाह रे देवभूमि सरकार, जनता के स्वास्थय के लिए धन नही है??? पहाडों मे दारू को दरवाजे मे पहुँचाने से ,सालाना कमाई 1000 करोड से ज्यादा हो गई है, लोगो के घर बार उजाडों, नशा मुक्ती केंद्र के नाम से जनकल्याण , योजनाओं से धन डकार कर ..??, खान,खदान व ईमान बेचकर कहो ,मेरा प्रदेश कर्जे मे है, क्या दोस्तो...यह मेरा देश भ्रष्टाचार की व्याख्या की रेस से दौडा या मेरा देश डूबा.....??????--



वाह रे देवभूमि सरकार, जनता के स्वास्थय के लिए धन नही है??? पहाडों मे दारू को दरवाजे मे पहुँचाने से ,सालाना कमाई 1000 करोड से ज्यादा हो गई है, लोगो के घर बार उजाडों, नशा मुक्ती केंद्र के नाम से जनकल्याण , योजनाओं से धन डकार कर ..??, खान,खदान व ईमान बेचकर कहो ,मेरा प्रदेश कर्जे मे है, क्या दोस्तो...यह मेरा देश भ्रष्टाचार की व्याख्या की रेस से दौडा या मेरा देश डूबा.....??????--